कोविड सेंटर के नाम पर २३ करोड़ का झोल राकांपा ने की सेंटर बंद करने की मांग

समर प्रताप सिंह
ठाणे। ठाणे शहर में कोरोना रोगियों की संख्या में भारी गिरावट देखी जा रही है। जिस कारण शहर में सक्रिय कोविड सेंटरों में ८० प्रतिशत बेड खाली पड़े हैं। ऐसी स्थिति में सिडको की तिेजोरी से वोल्टास कंपनी की जगह पर बनाए जा रहे नए कोविड सेंटर का काम रोक दिया जाए। इससे २३ करोड की बचत ठाणे मनपा को होगी। इसको लेकर ठाणे मनपा में पूर्व विरोधी पक्षनेता रहे नगरसेवक नजीब मुल्ला ने ठाणे मनपा आयुक्त डॉ. विपीन शर्मा को लिखित निवेदन दिया है। मांग की गई है कि वोल्टास कंपनी कोविड सेंटर का काम रोके जाने से करोड़ों$ की बचत होगी।
कहा गया है कि ठाणे शहर में इस समय कोरोना रोगियों के लिए चार हजार ३८३ बेड उपलब्ध हैं। जहां केवल ८६१ रोगी अपना इलाज करा रहे हैं। तीन हजार ५२३ बेड रिक्त पड़े हैं। और तो और १७८० बेड पर ऑक्सीजन सुविधा उपलब्ध है। आगे मुल्ला ने कहा है कि शहर में कोरोना रोगियों के लिए ४६८ आईसीयू बेड हैं। जहां केवल २४३ रोगी भर्ती हैं। यानी २२५ आईसीयू बेड इस समय खाली हैं।
गंभीर कोरोना रोगियों के लिए १९३ बेड वेंटिलेटर सुविधायुक्त है। लेकिन १०६ बेड पर रोगी ही नहीं हैं। मुल्ला का कहना है कि इस समय कोविड सेंटर के ८० प्रतिशत बेड खाली पड़े हैं। ऐसी स्थिति में २३ करोड का अतिरिक्त खर्च करने का कोई सार्थक मतलब ही नहीं है।  ठाणे शहर के लिए इस समय नए कविड सेंटर की आवश्यकता ही नहीं है।
आगे कहा गया है कि २० करोड़ खर्च कर जुपिटर अस्पताल के समीप पार्किंग प्लाजा में कोविड सेंटर बनाया जा रहा है। यहां ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले रोगियों का उपचार किया जाएगा। ऐसी स्थिति में वोल्टास कंपनी कोविड सेंटर की आवश्यकता ही नहीं है। मुल्ला ने स्पष्ट कहा है कि पैसा राज्य सरकार हो या एमएमआरडीए$या फिर सिडको का, उसकी बर्बादी नहीं की जानी चाहिए। और इस मामले में ठाणे मनपा प्रशासन की भूमिका महत्वपूर्ण है।
आगे आरोप लगाया गया है कि वोल्टास कोविड सेंटर का पहले बजट केवल १२ करोड़ रुपए का था। जिसे बढा़कर २३ करोड़ कर दिया गया है। इसके साथ ही कोविड सेंटर की निविदा को लेकर भी पहले से ही सवाल उठाए जा रहे है। ठेका की शर्तों में नरमी से संदेह पैदा हो रहा है। मुल्ला का कहना है कि यदि इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया तो विरोधक न्यायालय का दरवाजा भी खटखटा सकते हैं। ऐसा इशारा मुल्ला ने किया है।

80 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: