मनमानी भाड़े वसूली का आरोप निजी बस चालकों पर परिवहन का ब्रेक !

वरिष्ठ संवाददाता।

ठाणे। महाराष्ट्र प्रदेश में गणेशोत्सव की तैयारी अंतिम चरण में है। नोकरी तथा व्यवसाय करने वाले कोकण वासी रेलवे , निजी वाहनों,एसटी बस या निजी बसों से अपने गांव जाने की योजना बना रहे है।गणपति महोत्सव हेतु गांव जाने वाले भक्तों से निजी बस चालक मनमानी भाड़ा वसूल रहे है। इस तरह की शिकायतें मिलने के बाद प्रादेशिक परिवहन विभाग ने निजी बस चालकों पर नकेल कसते हुए भाड़े से संबंधित आवश्यक आदेश जारी कर दिया है।
कोरोना की दूसरी लहर ढलान पर है। तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। इन सबके बीच गणेशोत्सव हेतु बड़ी संख्या में भक्त कोकण स्थित अपने अपने गांव जा रहे है। कोंकण निवासी दो से तीन महीने पहले से ही इसकी तैयारी में जुट जाते है पर गांव जाने के लिए किस साधन का उपयोग करना है ,इसका निर्णय एक हप्ते या दो हप्ते पूर्व लिया जाता है। इसे देखते हुए शासन द्वारा अतिरिक्त साधन उपलब्ध कराए जाते है।

लोगो के गांव जाने की तत्परता का फायदा बस चालक उठा रहे हैं। मनमानी भाड़ा वसूल रहे हैं। इस तरह की शिकायत मिलने के बाद विभाग द्वारा निजी बस चालकों के लिए आवश्यक आदेश जारी किया गया है।यह जानकारी देते हुए उप प्रादेशिक परिवहन अधिकारी जयंत पाटील ने बताया कि गणेशोत्सव निमित्त जाने वाले सभी बस चालकों को प्रति कि मी की दर से भाड़े की सूची तैयार करने, एसटी बस के भाड़े से डेढ़ गुना से कम भाड़ा वसूलने का आदेश दिया गया है। जिस जगह से बस छूटने वाली है उस जगह पर रायगड, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग आदि जगहों पर जाने के लिए भाड़े का बोर्ड लगाना आवश्यक कर दिया गया है। भाड़े से संबंधित किसी तरह की शिकायत मिलने पर उस बस चालक के विरुद्ध कड़ी करवाई की चेतावनी दी गई है तथा ज्यादा भाड़ा लेने वाले बस चालकों के विरुद्ध यात्रियों से परिवहन विभाग में शिकायत दर्ज कराने की अपील की गई है।

176 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: