सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाइये गणेशउत्सव – जिला कलेक्टर नार्वेकर

समर प्रताप  सिंह
ठाणे। जिला कलेक्टर का कहना है कि भले ही ठाणे जिले में कोरोना कहर में भारी कमी आई हो,  लेकिन अभी भी कोरोना संकट टला नहीं है।  ऐसी स्थिति में आम नागरिकों को सतर्कता बरतने की जरूरत है।  खासकर गणेशोत्सव के दौरान तो जिले के हर नागरिकों को कोरोना  को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है।
वर्तमान स्थिति को देखते हुए यह आवश्यक है कि गणेशोत्सव के दौरान पूरी तरह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सामान्य तरीके से गणपति उत्सव  का आयोजन किया जाए। ऐसा आग्रह ठाणे जिला अधिकारी राजेश नार्वेकर ने जिले के सभी नागरिकों से करते हुए कहा है कि इस मामले में सार्वजनिक गणपति मंडल विशेष भूमिका का निर्वाह करें।  ऐसी स्थिति में मंडल की भूमिका बहुत महत्व रखेगी।  मंडलों को चाहिए कि वे सरकारी आदेश के अनुरूप ही गणपति उत्सव मनाएं ।अन्यथा कोरोना संक्रमण की संभावना को और भी गति मिल सकती है। ऐसी चेतावनी ठाणे जिला अधिकारी नार्वेकर ने ठाणेकरो को दी है।
 राज्य में कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए ठाणे जिले के सभी नागरिक और गणेश मंडल राज्य सरकार द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सरल तरीके से और हर्षोल्लास के साथ गणेशोत्सव मनाएं।  ठाणे के जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर ने सभी सार्वजनिक गणेश मंडलों से आग्रह किया है कि वे  गणेशोत्सव के दौरान मनोरंजक कार्यक्रमों की जगह स्वास्थ्य संबंधी उपक्रमों का आयोजन करें।  जिससे सामान्य नागरिक भी लाभान्वित होंगे।  साथ ही कोरोना की संभावना पर भी विराम लग सकता है । ऐसी सलाह नार्वेकर ने गणेश भक्तों को दी है।
गणेशोत्सव की पृष्ठभूमि में  नार्वेकर ने ठाणेकरों  से सरकार के नियमों का पालन करते हुए गणेशोत्सव मनाने की अपील की है। नार्वेकर ने कहा कि प्रदेश में कोविड संक्रमण को और फैलने से रोकने के लिए गणेशोत्सव को सरल तरीके से मनाया जाए।  सार्वजनिक गणेशोत्सव के लिए मूर्ति 4 फीट और घरेलू गणेश प्रतिमा 2 फीट की होनी चाहिए।  पारंपरिक गणेश मूर्तियों के बजाय धातु या संगमरमर की मूर्तियों की पूजा की जानी चाहिए।   यदि विसर्जन घर में संभव न हो तो विसर्जन निकट के कृत्रिम विसर्जन स्थल पर करना चाहिए। सार्वजनिक मंडलों  को स्थानीय निकाय की पूर्व अनुमति लेनी चाहिए।  जिलाधिकारी नार्वेकर ने ठाणे जिले के गणेश भक्तों से आग्रह किया है कि वे मनोरंजक कार्यक्रमों का आयोजन गणेशोत्सव के दौरान नहीं करें । उसके स्थान पर स्वास्थ्य संबंधी उपक्रमों का आयोजन किया जाए।  इसके साथ ही इस दौरान सामान्य नागरिकों को कोरोना  के संदर्भ में जागरूक करने के लिए विज्ञापनों के माध्यम से संदेश होल्डिंग या बैनर पोस्टर से भी दिया जा सकता है। उनका कहना है कि गणेशोत्सव के दौरान सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों में ढील नहीं दी गई है।  इसलिए जनता ध्यान दें कि इस दौरान आयोजन स्थलों पर भीड़ न हो, नागरिक मास्क पहनेंगे और सामाजिक दूरी का पालन करेंगे।  श्री के आगमन व विसर्जन दौरान  जुलूस नहीं निकालना चाहिए।  विशेष रूप से बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों को विसर्जन स्थल पर नहीं जाना चाहिए।  सरकार द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है।  उन्होंने सभी से श्री गणेश उत्सव को अच्छे तरीके से और शांति से मनाने के लिए प्रशासन का सहयोग करने की भी अपील जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर ने  की है।
65 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: