जिंदा पति को पहचानने से पत्नी व बच्चों ने किया इनकार पत्नी ले रही विधवा पेंशन

मुंब्रा सारा पूरी।

मुंब्रा परिसर में बेहद दयनीय स्थिति में पड़े एक बृद्ध को मृत घोषित कर पत्नी द्वारा विधवा पेंशन लिए जाने के एक सनसनी खेज मामले का खुलासा हुआ है। मानसिक रूप से विक्षिप्त बृद्ध की मौत तीन वर्ष पूर्व हो चुकी है।इस तरह का दावा उनके परिजन कर रहे है औऱ पहचानने से इंकार कर रहे है।
एक हप्ता पूर्व मुंब्रा के अमृतनगर स्थित एक स्कूल के सामने 60 वर्षीय गफूर कासिम शेख नामक एक बृद्ध बेहद दयनीय अवस्था मे पड़ा मिला था।

सामाजिक कार्यकर्ता हसन मुलानी अपने साथियों के साथ मिल कर इलाज हेतु उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। उपचार के दौरान उस गफूर ने बताया कि वह कर्नाटक के जिला वीजापुर,गाँव गलगली का रहने वाला है।मुंब्रा में उन्हें कौन लाया,कैसे लाया,यह उन्हें याद नही आ रहा है। उनके पास आधार कार्ड सहित जो अन्य दस्तावेज थे वे सब गायब हो गए है। उनके द्वारा दी गयी जानकारी के साथ उनका फोटो सोसाल मीडिया पर वायरल कर दिया गया और उनके परिजनों को खोजने की अपील की गई।

वायरल फोटो के आधार पर सोलापुर निवासी इरफान जमादार अपने निकट संबंधी हुबली निवासी से संपर्क कर गफूर के सगे संबंधियों को खोजने का निवेदन किया। इरफान के निवेदन पर सगे संबंधी गलगली गांव पहुँचे तो फोटो देखकर गफूर की पत्नी ने पहचानने का प्रयास किया पर तीनो बेटों ने पहचानने से साफ इंकार कर दिया औऱ तीन वर्ष पूर्व मरने का दावा करने लगे।

इसी परिसर के रहने वाले तथा एक चीनी कारखाने में काम करने वाले शरीफ़ ने बताया कि गफूर तीन वर्ष पूर्व यहाँ रहते थे। बच्चो द्वारा प्रताणित किये जाने की वजह से वे सोलापुर अपने भाई के पास रहने के लिए चले गए। इसके बाद क्या हुआ इसकी जानकारी हमे नही है। तीन वर्ष पूर्व मृत घोषित कर गफूर की पत्नी विधवा पेंशन ले रही है। उन्होंने गफूर को वापस यहाँ न भेजने का निवेदन किया है। उपचार के बाद गफूर को बृद्धाश्रम भेज दिया जाएगा।यह जानकारी सामाजिक कार्यकर्ता मुलानी द्वारा दी गयी है।

18 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: