वित्त मंत्री के पैकेज से कारोबारियों मैं जगी उम्मीद की किरणें, दिवाली पर बढ़ेगा व्यापार

उदयभान पांडेय।

मुंबई। इस समय देश भर का व्यापार वित्तीय समस्याओं में उलझा हुआ है। ऐसे में यह कदम व्यापार में धन के चक्र में वृद्धि लागएगा। कैट ने कहा कि प्रोत्साहन पैकेज देश को इस साल की दिवाली को हिन्दुस्तानी दिवाली के रूप में मनाने में बड़ा योगदान देगा। इससे उम्मीद की जाती है कि पैकेज के द्वारा विशेष तौर पर घरेलू उपकरणों, बिजली और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, रसोई के उपकरणों, एफएमसीजी उत्पादों, उपभोक्ता वस्तुओं, कपड़ा और रेडीमेड कपड़ों, मोबाइल, जूते और उपहार वस्तुओं का व्यापार बढ़ेगा।
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सोमवार को जो पैकेज की घोषणा की, उससे कारोबारियों में उत्साह का माहौल है
कारोबारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) का कहना है कि इससे सरकारी कर्मचारियों की क्रय शक्ति बढ़ेगी
इससे आगामी दिवाली के मौसम में घरेलू मांगों को बढ़ावा मिलने की बड़ी सम्भावना है।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सोमवार को जो पैकेज की घोषणा की, उससे कारोबारियों में उत्साह का माहौल है। कारोबारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स का कहना है कि इससे सरकारी कर्मचारियों की क्रय शक्ति बढ़ेगी। इससे आगामी दिवाली के मौसम में घरेलू मांगों को बढ़ावा मिलने की बड़ी सम्भावना है।
बढ़ेगा कुछ वस्तुओं का व्यापार
कैट (CAIT) का कहना है कि इस समय देश भर का व्यापार वित्तीय समस्याओं में उलझा हुआ है। ऐसे में यह कदम व्यापार में धन के चक्र में वृद्धि लागएगा। कैट ने कहा कि प्रोत्साहन पैकेज देश को इस साल की दिवाली को हिन्दुस्तानी दिवाली के रूप में मनाने में बड़ा योगदान देगा। इससे उम्मीद की जाती है कि पैकेज के द्वारा विशेष तौर पर घरेलू उपकरणों, बिजली और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, रसोई के उपकरणों, एफएमसीजी उत्पादों, उपभोक्ता वस्तुओं, कपड़ा और रेडीमेड कपड़ों, मोबाइल, जूते और उपहार वस्तुओं का व्यापार बढ़ेगा।
केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगा 10 हजार रुपये का स्पेशल फेस्टिवल एडवांस
कर्मचारियों की क्रय शक्ति बढ़ेगा
कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि त्योहार के मौके पर सरकारी कर्मचारियों के लिए एलटीसी लाभों का नकद रूपांतरण तथा सरकारी कर्मचारियों को वर्तमान त्योहार सीजन से लेकर आगामी 31 मार्च 2021 तक सरकार द्वारा दिए गए फेस्टिवल एडवांस (Festival Advance) को व्यय करने की घोषणा सरकारी कर्मचारियों की क्रय शक्ति को अधिक मजबूत करेगी। इससे यह पैसा बाज़ार में आएगा और व्यापार बढ़ेगा। भरतिया और खंडेलवाल ने कहा कि यदि राज्य सरकारें भी केंद्र सरकार की इस योजना को अपनाती हैं तो और अधिक पैसा बाज़ार में आएगा। यह अंतत: मांग को अधिक मजबूत करेगा।

अखिल भारत के खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के महानगर अध्यक्ष शंकर ठक्कर ने कहा कि लॉकडाउन खुलने के बाद से बाजारों में बहुत कम फुटफॉल है। इस वजह से बाजार के स्टेकहोल्डर काफी तनाव में हैं। इस वजह से बिक्री में तेजी से गिरावट आई है। ऐसे समय में केंद्र सरकार का यह प्रोत्साहन निश्चित रूप से सरकारी कर्मचारियों को अधिक खर्च करने के लिए प्रेरित करेगा और अंततः धन बाजारों में आ जाएगा

100 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: