भिवंडी ट्राफिक पुलिस कर रही सड़कों पर हुऐ गड्डों की भराई !

वरिष्ठ संवाददाता।
भिवंडी। भिवंडी मनपा द्वारा सड़कों पर हुऐ गड्डों की भराई नही किए जाने की वजह से आये दिन हो रही ट्रॉफिक की समस्याओं को सुलझाने के लिए यातायात पुलिस के कर्मचारी स्वंम हाथ मे फावड़ा एवं तसला लेकर पत्थर की गिट्टी से गढढो की भराई कर रहे है। कल्याण नाका, नदीनाका, नारपोली, मानकोली, दापोड़ा, हरिहर कंपाउंड प्रेरणा कंपाउंड,सहित दर्जनों इलाकों मे सड़कों पर हुए गड्डों की भराई यातायात पुलिस ने किया।

यातायात पुलिस के कर्मचारी द्वारा सड़कों पर हुए गड्डों क़ी भराई पिछले कई दिनो से क़ी जा रही है।सड़कों पर हुए गढ्ढों को लेकर मनपा द्वारा बरती जा रही उदासीनता के कारण गणेश उत्सव से पहले ही शहर की सड़कों पर हुऐ गड्डों को भरने का काम किया जा रहा है। शहर के विभिन्न इलाकों मे गणपति विसर्जन मार्ग पर पैचवर्क भी किया गया है, लेकिन पिछले कई दिनों से तेज बारिश होने के कारण सड़क पर फिर गड्डे हो गए।यातायात पुलिस के इस पहल की लोगों में प्रशंसा हो रही है।
कल्याण नाका यातायात विभाग के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र मायने ने बताया की शहर के विभिन्न इलाकों की सड़कों पर हुऐ गड्डों के कारण प्रायः यातायात जाम हो जाती थी,जिसके कारण वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता था, यातायात जाम होनें पर वाहन चालकों द्वारा यातायात पुलिस को गाली दिया जाता था।गणेश उत्सव के दौरान गणेश भक्तो को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ता था, जिसके कारण यातायात पुलिस कर्मचारियो ने स्वतः गड्डों को भरने का निर्णय लिया।राजेंद्र मायने ने बताया की यातायात पुलिस कर्मियों द्वारा पिछले एक सप्ताह से सड़कों पर गड्डों की भराई
की जा रही है।उन्होंने बताया की मानकोली, दापोड़ा एवं हरिहर कंपाउंड सहित अन्न इलाकों मे सड़कों पर बड़े गड्डे हो गए कि उस पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है।जिसके कारण वह स्वम खड़े होकर गड्डे की भराई करा रहे है।
इस सम्बन्ध मे जानकारी लेने के लिए मनपा के शहर अभियंता एल,पी गायकवाड से संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।भिवंडी यातायात के पुलिस निरिक्षक राजेंद्र मायने के अनुसार सड़क पर हुऐ गड्डों के कारण हो रही यातायात जाम के लिए यातायात पुलिस के ऊपर दोष दिया जाता है जिससे बचने के लिए यातायात पुलिस खुद गड्डे भर रही है।

57 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: