गिरफ्तार फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर लूटपाट और ठगी को देता था अंजाम

वरिष्ठ सं.शिवशंकर तिवारी।

मुंबई। फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर एक व्यापारी को बंदूक की नोक पर लूटपाट व अपहरण कर लगभग 16 लाख रुपये की नगदी और लाखों के सामान लेकर फरार हो जाने वाले आरोपी को मुम्बई क्राइम ब्रांच ने लगभग 1500 किलोमीटर तक लगातार पीछा किया और उसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
गिरफ्तार शातिर नकली आईपीएस अधिकारी पेशेवर ठग है।आरोपी की अपहरण और लूट की ये कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नही है।
इस फर्जी आईपीएस आरोपी नाम श्याम सुंदर सत्यनारायण शर्मा उर्फ एस एस शर्मा ,उम्र 38 साल पेशा नकली आईपीएस अधिकारी बनकर ठगी और लूटपाट
की घटनाओं को अंजाम देना।
दरअसल तस्वीर में दिख रहा ये वही  आरोपी है जो अब नकाब के पीछे अपना चेहरा छुपाने को मजबूर है लेकिन मुंबई के फाइव स्टार होटल में एक ऐसे अपराध को अंजाम दिया जो कि किसी  फिल्मी कहानी से कम नही है। गुजरात के एक व्यापारी को आरोपी ने मुम्बई के चर्चगेट में स्थित एक फाइव स्टार होटल में उंसके निजी व्यवसायिक विवाद को खुद के आईपीएस अधिकारी होने की बात बताकर सेटलमेंट के लिए बुलाया।
व्यापारी जब मुम्बई के अम्बेसडर होटल पहुचा और आरोपी के कमरे में एंट्रीकिया तो आरोपी को उसका असली चेहरा दिखाई दिया ,,आरोपी ने व्यापारी को पहले तो बंदूक की नोक पर जमकर पीटा ,,और गिर उसे उसकी ही गाड़ी में किडनैप करके गुजरात क सूरत में उंसके घर ले गया ,और घर से व्यापारी को छोड़ने की एवज में 16 लाख की रंगदारी वसूली और लाखों के सामान लिए और भाग गया
आरोपी के फरार होते ही पीड़ित व्यापारी ने सूरत में शिकायत दर्ज कराने पहुचा तो अपराध की शुरुवात मुम्बई से जुड़ी हुई थी ऐसे में केस दर्ज कर मुम्बई क्राइम ब्रांच के एन्टी एक्सटॉर्शन सेल को जांच के लिये जिम्मेदारी सौंपी गई ,,जिसके बाद आरोपी की सीसीटीवी फुटेज होटल से मिलने के बाद  और आरोपी के बताए हुलिए के आधार पर स्केच के सहारे आरोपी के मोबाइल फोन के लोकेशन को ट्रेस करने का काम शुरू किया।आरोपी के बड़ोदा में होने की जानकारी मिली ।क्राइम ब्रांच की टीम बड़ोदा पहुंची लेकिन आरोपी दुबारा बड़ोदा से सूरत आ गया।पुलिस फिर सूरत आयी। लेकिन यहां से फिर उसका लोकेशन मुम्बई महाराष्ट्र के रूट पर दिखाई दे रहा था , क्राइम ब्रांच लगातार उंसके पीछे पीछे रही ,लेकिन बार बार फोन बन्द कर लेने से आरोपी को ट्रेस करना मुश्किल हो रहा था ,, ऐसे में क्राइम ब्रांच की टीम दुबारा मुम्बई होते हुए कर्नाटक हुबली के रूट तक पहुच गई ,,  सबसे अहम बात ये की आरोपी जिस तरह से जिस पैटर्न को अपना रहा था ऐसे में उंसके पहले ही कर्नाटक हुबली के हाईवे पर पुलिस उसका इंतजार कर रही थी।जैसे ही एक लग्जरी बस आई शक की बुनियाद पर वस को रोक कर पुलिस ने तलाशी ली तो आरोपी फर्जी आईपीएस  मिल गया।
अजय  सावंत सीनियर इंस्पेक्टर एन्टी एक्सटॉर्शन सेल
क्राइम ब्रांच ने आरोपी से पूछताछ की तो पता चला कि मध्यप्रदेश में भी फर्जी आईपीएस बनकर वो लोगो के साथ ठगी कर चुका है। उसके ऊपर पूर्व में भी कई गुनाह ऐसे ही दर्ज है। मूलतः राजस्थान का रहने वाला शर्मा हॉइ स्टैण्डर्ड एजुकेशन लिया है फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है ,,उसकी कद काठी भी अच्छी है और खुद को लोगो के सामने ऐसे व्यवहार करता है कि जैसे वो आईपीएस ही है।उसने इसके लिए पुलिस की वर्दी सहित स्टार भी ले रखे थे जिसे वो पहनकर लोगो को ठगता था।
आरोपी की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस इस बात का पता लगाने में जुटी है कि आखिर इसने और कितने लोगों के साथ इस तरह की ठगी की है।

32 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: