मनपा प्रशासन की लापरवाही के कारण आवारा कुत्तों के आतंक से नागरिक में भय का माहौल

समर प्रताप सिंह
ठाणे। ठाणे शहर के कई इलाकों में आवारा कुत्तों के आतंक से नागरिक परेशान यह कुत्ते इलाके में आने जाने वालों पर एकाएक हमला करते और काटने को दौड़ते है।
 इस समय आवारा कुत्ते लोगों के लिए सिरदर्द  बन गए हैं। ये कुत्ते आम लोगों को चबा रहे हैं। साथ ही राह चलते लोगों पर हमले भी कर रहे हैं। परंतु इस संवेदनशील मामले को लेकर ठाणे मनपा प्रशासन किसी तरह का कोई कदम नहीं उठा रहा है। इसको लेकर शिवसेना नगरसेवक व ठाणे मनपा शिक्षण सभापति विकास रेपाले ने मनपा के स्वास्थ्य अधिकारी को अवगत कराया है। साथ ही कहा गया है कि यदि प्रशासन का यही रूख रहा तो वे विरोध आंदोलन करने को विवश होंगे।
बताया गया है कि ठाणे शहर के कशिशपार्क, मेंटल हॉस्पिटल परिसर, तीन हात नाका, रहेजा, रघुनाथ नगर, रायलादेवी परिसर, हजुरी, एल.आय.सी. रोड, ग्रीन रोड, लुईसवाडी के साथ ही अन्य भागों में रहनेवाले लोग आवारा कुत्तों के आतंक से परेशान हैं। आए दिन कुत्ते बच्चे और वृद्धों को चबा हे हैं। राह जाते किसी भी व्यक्ति पर हमला भी करता है। जिस कारण लोगों में भय का वातावरण है। सड$कों पर गंदगी के कारण कुत्तों का अधिक जमावड़ा हो रहा है।
ठाणे मनपा के स्वास्थ्य अधिकारी को इस संदर्भ में लिखित तौर पर भी अवगत करा दिया गया है। उनसे बार-बार आग्रह किया जा रहा है कि आवारा कुत्तों के आतंक पर लगाम लगाए जाए। लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है। इन बातों का जिक्र करते हुए विकास रेपाले ने कहा है कि अधिकारी मामले की संवेदनशीलता की अनदेखी कर रहे हैं।
इतना ही नहीं इनआवारा कुत्तों को लेकर स्वयं ठाणे मनपा आयुक्त ने भी पशु वैद्यकीय अधिकारी शमा शिरोडकर को विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया है। इसके बाद भी अधिकारी मामले को गंभीता से नहीं ले रहे हैं। रेपाले ने बताया कि ठाणे मनपा के आरोग्य अधिकारी को भी वे स्थिति से अवगत करा रहे हैं। लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जा हा है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि सात दिनों के भीतर आवारा कुत्तों के खिलाफ अभियान नहीं चलाया गया तो संबद्ध अधिकारी के कक्ष में ही विरोध आंदोलन किया जाएगा।
69 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: