मुंब्रा-कौसा के ६९ स्कूलों में तीन महीने की फीस माफी

समर प्रताप सिंह
मुंब्रा। कोरोना और लॉकडाउन के कारण बच्चे के अभिभावकों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए मुंब्रा-कौसा के ६९ स्कूलों में बच्चों का तीन महीने का फीस माफ कर दिया गया है। साथ ही अन्य लगनेवाले फीसों में भी रियायत की बात स्कूल प्रबंधन ने कही है। इन बातों की जानकारी देते हुए मुंब्रा-कलवा विधानसभा अध्यक्ष और ठाणे मनपा परिवहन समिति सदस्य शमीम खान ने मीडिया को बताया कि  राज्य के गृहनिर्माण मंत्री डॉ. जितेंद्र आव्हाड के निर्देशानुसार  मुंब्रा कौसा एज्युकेशन फी सॉल्युशन कमिटी स्थापना की गई थी। कमिटी के पाठपुरावा के कारण ही यह संभव हो पाया।
मुंब्रा-कौसा के लोगों की आर्थिक हालत लगातार लॉकडाउन के कारण खराब हो गई थी। जिस कारण यहां के अभिभावक स्कूली फीस में रियायत की मांग कर रहे थे। इसके बाद डॉ. आव्हाड ने स्थानीय संगठन व नेतृत्व को इस समस्या के समाधान के लिए आदेश दिया। इसके बाद फीस माफी हेतु सोल्युशन कमिटी का गठन किया गया। राकांपा शहराध्यक्ष आनंद परांजपे के मार्गदर्शन में  ऋता जितेंद्र आव्हाड, सय्यद अली अशरफ(भाई साहब)  शमीम खान, अशरफ शानू पठाण, शादाब खान, रफिक कामदार को कमिटी सदस्य बनाए गए थे।
इस दौरान सय्यद अली अशरफ, अशरीन राउत,  राजन किणे,  सिराज डोंगरे,  अनिता किणे,   हाफिजा नाईक,  सुनीता सातपुते,    हीरा पाटील, बाबाजी पाटील,  रेहान पीतलवाला,   इमरान सुरमे,  जफर नोमानी,   मोरेश्वर किणे, फरजाना शेख,  रूपाली गोटे,  संगिता पालेकर, मुफ्ती अशरफ सहाब,   शोएब खान,  शादाब खान,   मुन्ना चौगुले,  पल्लवी जगताप, बबलू शेमना,  जावेद शेख, मेह्र्स शेख, पुजा खान, इशरत शेख, रफी मुल्ला, अतीक खांचे,   सलीम शेख, आदि भी उपस्थित थे।
विदित हो कि राकांपा पक्ष कार्यालय में ही संघर्ष संस्था के बैनर तले शिष्यवृत्ति के लिए शिविर का आयोजन भी किया गया था। शिविर में सहभागी हुए बच्चों को प्री मेट्रिक स्कॉलरशिप, पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप के बारे में मार्गदर्शन किया गया। शिविर में नौ हजार से अधिक बच्चे सहभागी हुए। जिसमें से सात हजार १४६ विद्यार्थियों ने शिष्यवृत्ती मिलने के लिए आवेदन किया है।

89 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: