विस्थापितों ने बिल्डर के कार्यालय में ताला ठोंका १८ महीने से नहीं दे रहा था घर का किराया

वरिष्ठ संवाददाता
ठाणे। ठाणे के वर्तकनगर स्थित म्हाडा कॉलोनी में रहने वाले परिवारों को पुनर्विकास के नाम पर विस्थापित कर दिया गया। गत १८ महीने से विस्थापित हुए परिवारों को घर का किराया भी बिल्डर नहीं दे रहा था। जिस कारण नाराज नागरिकों ने बिल्डर के कार्यालय में ताला ठोंक दिया। प्रभावित परिवारों का आरोप था कि बिल्डर ने उसके साथ जालसाजी की है।
इतना ही नहीं प्रभावित नागरिकों ने बिल्डर कार्यालय के सामने एकजुट विरोध आंदोलन भी किया। नागरिकों का कहना है कि वे गत तीस सालों से ह्माडा इमारत में रह रहे थे। वर्ष २०१० में इमारत के पुनर्विकास के लिए बिल्डर और सोसायटी के बीच करार हुआ था। जिसमें बिल्डर द्वारा विस्थापित होनेवाले परिवारों को घर किराया दिए जाने का भी प्रावधान था। लेकिन बिल्डर ने गत १८ महीने से घर किराया नहीं दिया।
प्रभावित परिवार के प्रसाद भालेराव ने बताया कि एक तो कोरोना के कारण उसके सामने भुखमरी की नौबत है। कई लोगों की नौकरियां चली गई। आर्थिक परेशानी के दौर में ऊपर  बिल्डर ने घर किराया देना भी बंद कर दिया था। जिस कारण वे मानसिक तौर पर प्रताडि़त हो रहे थे। स्थिति ऐसी स्थिति में सड़कों पर आने की स्थिति आ चुकी है। बेघर हुए लोगों पर बिल्डर आर्थिक अत्याचार कर रहा है। साथ ही मांग की गई है कि ऐसे बिल्डर के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की जाए। नहीं तो नागरिक उग्र विरोध आंदोलन करने को विवश होंगे।
113 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: