एटीएम ग्राहकों की मदद करने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले आरोपी गिरफ्तार नकदी सहित लाखों का माल जप्त

वरिष्ठ संवाददाता।

विरार। पालघर जिले के विरार पुलिस की डिटेक्शन ब्रांच को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। दरअसल,ब्रांच टीम ने एटीएम सेंटर के अंदर ग्राहकों की मदद करने वाले दो शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया है।
इन आरोपियों के पास से पुलिस ने विभिन्न बैंकों के एटीएम,कार्ड सामग्री,नकदी सहित लाखो रुपये का माल जप्त किया है। और पूछताछ के दौरान 8 धोखाधड़ी मामलो का पर्दाफाश किया है।
विरार पुलिस स्टेशन के सीनियर पी.आई सुरेश वराडे ने बताया कि, आये दिन विरार पुलिस स्टेशन क्षेत्र में एटीएम सेंटर में ग्राहकों की मदद करने के बहाने कार्ड बदलकर धोखाधड़ी की घटनाएं बढ़ रही थी। जिसे गम्भीरता से लेते हुए एस.पी दतात्रेय शिंदे के आदेशानुसार पर अपर पुलिस अधीक्षक विजयकांत सागर व उपविभागीय पुलिस अधिकारी रेणुका बागड़े मार्गदर्शन में एक टीम गठित की गई।
तदुपरांत पी.आई वराडे और क्राइम पी.आई विवेक सोनवणे के नेतृत्व में डिटेक्शन ब्रांच के पीएसआई संदेश राणे,सफौ.राजेश वाघ,पुलिस हवलदार सचिन लोखंडे, पुलिस नाइक सचिन घेरे,विजय दुबला,हर्षद चव्हाण,भूषण वाघमारे, पुलिस सिपाही इंद्रनिल पाटील और विशाल आदि पुलिस कर्मचारी की एक टीम बनाई गई।
इसी बीच टीम ने गुप्त सूचना के आधार व तकनीकी यंत्रणा द्वारा आरोपी रोहीत मृदुलकुमार पांडेय (28),निवासी- संतोष भुवन नालासोपारा पूर्व और प्रद्युम राधेश्याम यादव (21),निवासी- वलईपाडा नालासोपारा पूर्व रहने वाले को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस की पूछताछ में दोनों आरोपियों ने धोखाधड़ी का अपराध कबूल किया। दोनों आरोपी मूलनिवासी- उत्तरप्रदेश के रहने वाले है। पुलिस ने बताया कि,आरोपी के पास टी.व्ही,एसी,होमथेटर,सोने की आभूषण, कैमरा आदि जप्त किया गया है,आरोपीयो ने ए.टी.एम के माध्यम से उक्त सामग्री खरीदी की थी।
पुलिस के मुताबिक,1,51,600 रुपये का माल के साथ 83 हजार रुपये नकदी बरामद हुआ है और 8 धोखाधड़ी मामलो का पर्दाफाश हुआ है,जिसमे 7 धोखाधड़ी के मामले विरार पुलिस स्टेशन अंतर्गत का है और 1 माणिक पुलिस स्टेशन के हद का है।
उक्त घटना की गुत्थी सुलझाने में पालघर सायबर सेल के पुलिस उपनिरीक्षक सिद्धेश शिंदे व पुलिस सिपाही गव्हाणे,चव्हाण,व पाटील की अहम भूमिका रही है।

166 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: