भिवंडी इमारत दुर्घटना के पीड़ितों के परिवारों को 5 लाख मदद देने की पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने की घोषणा।

भिवंडी इमारत हादसे में मरने वालों की संख्या 13 हुई।

घटना पर मुख्यमंत्री ने दुख जताया.

भिवंडी।  राज्य सरकार ने भिवंडी के पटेल कंपाउंड में तीन मंजिला इमारत के ढहने से मारे गए लोगों के परिवारों को 5 लाख रुपये प्रदान करेगी, ठाणे जिला पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने घोषणा की है। सोमवार तड़के करीब 4 बजे इमारत गिरने से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि कम से कम 30-35 लोग अभी भी मलबे के नीचे फंसे होने की आशंका रही थी।
इमारत के गिरने की खबर सुनकर पालक मंत्री एकनाथ भागकर घटना स्थल पर पहुंचे। एनडीआरएफ, ठाणे महानगर पालिका के आपातकालीन विभाग, ठाणे आपदा प्रबंधन बल और भिवंडी फायर ब्रिगेड की एक टीम सुबह से राहत कार्य में लगी हुई है और मलवे के नीचे फंसे लोगों को निकालने के लिए काम जारी है। घायलों को इंदिरा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शिंदे ने भी घटनास्थल का दौरा किया और घायलों के बारे में पूछताछ की और डॉक्टरों से इलाज के बारे में जानकारी मांगी।
दुर्घटना की जांच की जाएगी,मंत्री शिंदे ने कहाकि दुर्घटना की जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
पालक मंत्री ने बताया कि भिवंडी नगर पालिका ने शहर में 102 खतरनाक इमारतों को खाली कर दिया है और प्रशासन द्वारा ऐसी इमारतों की लगातार समीक्षा की जा रही है।जहां इस अवसर पर जिला कलेक्टर राजेश नार्वेकर, भिवंडी मनपा आयुक्त पंकज आशियान और स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। तो वही राज्य के गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने भी घटना का दौरा कर राहत बचाव कार्य अभियान की समीक्षा की।भिवंडी निजामपुर शहर के नगरपालिका अधिकारी द्वारा इमारत के मालिक सैयद अहमद जिलानी के खिलाफ नारपोली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई थी। बनाम पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे ने बताया कि धारा 337, 338, 304 (2) के तहत अपराध दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है।

घटना पर मुख्यमंत्री ने दुख जताया
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भिवंडी में हुए भवन हादसे पर दुख व्यक्त किया है और मृतकों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ठाकरे ने अभिभावक मंत्री एकनाथ शिंदे से भी बात की है और प्रशासन को निर्देश दिया है कि बचाव अभियान को ठीक से और सावधानी से किया जाए और घायलों का उचित इलाज किया जाए।

भिवंडी अपडेट शाम१८:१५ बजे तक सुरक्षित निकले गये व्यकितयों की संख्या।
१) हेदर सलमानी( पु/२०वर्ष,(२) रुकसार खुरेशी(स्त्री/२६ वर्ष),(३) मोहम्मद अली, (पु/६० वर्ष) (४) शबीर खुरेशी(पु/३० वर्ष),(५) मोमीन शमीऊहा शेख (स्त्री/४५ वर्ष), (६) कैसर सिराज शेख (स्त्री/२७ वर्ष), (७) रुकसार जुबेर शेख ( स्त्री/ २५वर्ष),(८) अबुसाद सरोजुद्दीन अन्सारी (पु/१८ वर्ष),(९) आवेश सरोजुद्दीन अन्सारी (पु/२२ वर्ष),(१०) जुलेखा अली शेख (स्त्री/५२ वर्ष),(११) उमेद जुबेर कुरेशी (पु/४वर्ष), (१२) आमीर मुबिन शेख (पु/१८ वर्ष), (१३) आलम अन्सारी (पु/१६ वर्ष (१४)अब्दुला शेख(पु/८वर्ष),(१५) मुस्कान शेख(स्री/१७वर्ष), (१६) नसरा शेख(स्त्री/१७वर्ष), (१७) इंब्राहिम(पु/५५वर्ष),(१८)खालिद खान(पु/४० वर्ष),(१९) शबाना शेख(स्त्री/५०वर्ष),(२०) जारीना अन्सारी (स्त्री/४५)

दुर्घटना में मृतकों की संख्या

(१) झुबेर खुरेशी(पु/३० वर्ष),(२)फायजा खुरेशी(पु/५वर्ष), (३)आयशा खुरेशी(स्री/७वर्ष), (४)बब्बू(पु/२७वर्ष),. (५) फातमा जुबेर बबु (स्त्री/२वर्ष)(६) फातमा जुबेर कुरेशी (स्त्री/८वर्ष), (७) उजेब जुबेर (पु/६ वर्ष),(८) असका आबिद अन्सारी पु/१४ वर्ष), (९) अन्सारी दानिश अलिद पु/१२ वर्ष), (१०) सिराज अहमद शेख (पु/२८ वर्ष), (११) नाजो अन्सारी स्त्री/२६),(१२) सनी मुल्ला शेख पु/७५) , (१३) अस्लम अन्सारी (पु/३०)

166 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: