सादगी और भव्यता का प्रतीक मांं अष्ट भुुुजा की दिव्य प्रतिमा

विनीत तिवारी
ठाणे। सादगी और भव्यता का प्रतीक है दिवा उत्तर भारतीय मंडल में विराजमान मां अष्टभुजा की दिव्य प्रतिमा। दिवा पूर्व स्थित मुंब्रादेवी कॉलोनी में मां अष्टभुजा की मनमोहक प्रतिमा लोगों में आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। दूर दराज से लोग मां के दर्शन करने आते हैं। सुबह और शाम की भव्य आरती के साथ होने वाले सांस्कृतिक धार्मिक कार्यक्रम मंडल द्वारा प्रतिदिन आयोजित किए जाते हैं। बुधवार की शाम भजन गायक दिनेश सिंह एवं बाबा मिश्रा की टीम द्वारा भव्य भजन संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थिति श्रोताओं का मन मोह लिया। गणेश वंदना सहित मां की आरती गीत पर श्रोता झूमने को विवश हो गए।

उक्त मंडल में पिछले 9 वर्षों से अध्यक्ष मनोज गुप्ता एवं उपाध्यक्ष रमेश प्रजापति के संयोजन में इनकी टीम द्वारा बड़े ही धूमधाम के साथ मां की स्थापना कर रहे हैं। 9 दिनों तक समूचे मंडल में खूब चहल पहल रहती थी। लेकिन अबकी बार कोरोना के कारण डांडिया, माता जागरण, महाभंडारा आदि होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों पर पानी फेर दिया। वहीं इस बार सादगी के साथ ही मंडल द्वारा विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। उत्तर भारतीय मंडल के अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने बताया कि हमारी कुछ मनोकामनाएं थी। जो मां जगदंबे ने पूरा किया। इसके चलते हम पूरी श्रद्धा आस्था के साथ मां को बैठा रहे हैं। उत्तर भारतीय मंडल के उपाध्यक्ष रमेश प्रजापति का कहना है कि हर बार सुबह शाम पूजा अर्चना के दौरान आसपास के लोग इकट्ठा होकर मां की विधिवत पूजा अर्चना में शामिल होते थे। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते बहुत ही सावधानी बरतते हुए मास्क, सेनेटाइजर आदि के उपयोग के साथ भजन संध्या का आयोजन किया जा रहा है। उत्तर भारतीय मंडल में प्रतिदिन होने वाले कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए मंडल के संस्थापक शैलेश पाटील, अध्यक्ष मनोज गुप्ता, उपाध्यक्ष रमेश प्रजापति, सचिव बी.के. चौरसिया, खजिनदार आनंद शाह, कार्याध्यक्ष सोनू गुप्ता, विपिन राय,जगत चौरसिया, बजरंगबली शर्मा, विनय गुप्ता, पप्पू चौरसिया, रमाकांत मिश्रा, राजकुमार कहार, कमलेश गुप्ता, पिंटू गुप्ता, मोनू जायसवाल, पटेश्वरी गुप्ता, दिना गुप्ता,विजय रंजक, पिंटू गुप्ता इलाहाबादी सहित आदि लोग सहयोग कर रहे हैं।

144 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: