निर्दलीय विधायक गीता भरत जैन भाजपा छोड़कर शिवसेना में शामिल

वरिष्ठ संवाददाता।

मीराभाईंदर बीजेपी की नगरसेविका व मीरा भायंदर विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक गीता भरत जैन शनिवार को शिवबंधन में बंध गई। राज्य के मुख्यमंत्री व शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे तथा शिवसेना नेता, युवसेनाप्रमुख व पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे की उपस्थिति में जैन ने मातोश्री पर शिवसेना में विधिवत प्रवेश किया। इस अवसर पर ठाणे जिला पालक मंत्री एकनाथ शिंदे, शिवसेना सांसद राजन विचारे, शिवसेना प्रवक्ता व विधायक प्रताप सरनाईक, पूर्व विधायक गिल्बर्ट मेंडोंसा भी उनके साथ उपस्थित थे। फिलहाल गीता जैन ने अकेले ही शिवसेना में प्रवेश लिया है, लेकिन बताया जा रहा है कि भाजपा के कई नगरसेवक उनके संपर्क हैं। जिससे आगामी दिनों में मीरा भायंदर मनपा में भी राजनीतिक समीकरण में उलट फेर होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

गीता जैन वर्ष २०१२ व २०१७ में मीरा भायंदर महानगरपालिका चुनाव में दो बार भाजपा से नगरसेविका के रूप में निर्वाचित हुए थी। २०१४ में उन्हें भाजपा की प्रथम महापौर बनने का भी गौरव मिला था। उसी दौरान उनकी भाजपा के तत्कालीन स्थानीय विधायक नरेंद्र मेहता से मनमुटाव शुरू हो गया था। जो दिन प्रतिदिन गहरी होती चली गई थी। वर्ष २०१९ के विधानसभा चुनाव में गीता जैन ने भाजपा से टिकट की मांग की थी, लेकिन नरेंद्र मेहता भाजपा से टिकट लेने में कामयाब हुए थे। जिससे गीता जैन ने भाजपा से बगावत करते हुए नरेंद्र मेहता के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ा, और मेहता को करीब १५,३९७ मतों से पराजित किया था। निर्दलीय चुनाव जीतने के बाद भी गीता जैन ने भाजपा को ही अपना समर्थन दिया था। उन्हें विस्वास था कि भाजपा के शीर्ष नेता मीरा भायंदर की कमान उनके हाथ मे सौपेंगे, लेकिन प्रत्यक्ष में ऐसा नही हुआ। यहां तक की भाजपा के स्थानीय कार्यक्रमों में भी उन्हें दरकिनार कर नज़रअंदाज ही किया जाता रहा था। इससे नाराज गीता जैन ने आखिर शिवसेना में प्रवेश कर अपनी नई राजनीतिक पारी की शुरुआत की है।

मीरा भायंदर मनपा में वर्तमान में भाजपा की बहुमत की सत्ता है। भाजपा का ही महापौर, उपमहापौर व ६१ नगरसेवक हैं। वहीं शिवसेना के २२ तथा कांग्रेस के १२ नगरसेवक हैं। मनपा में सत्ता के लिए ४८ सदस्यों की संख्या की आवश्यकता है। बताया जा रहा है कि भाजपा के नगरसेवक मॉरिस रॉड्रिक्स, अश्विन कसोदरिया, परशुराम म्हात्रे, विजय राव सहित करीब १० नगरसेवक गीता जैन के साथ हैं। मीरा भायंदर में जैन समाज की संख्या लक्षणीय है। जैन के शिवसेना में प्रवेश करने से भाजपा को भारी झटका लगा है।

गीता जैन मीरा भायंदर की जनता द्वारा चुनी हुई जन प्रतिनिधि है। उनके शिवसेना में प्रवेश से पार्टी की ताकत बढ़ेगी साथ ही शहर के विकास कार्यों में भी उनका सहयोग मिलेगा। हम सभी उनका शिवसेना में तहे दिल से स्वागत करते हैं। अब उन्हें शिवसेना पार्टी के प्रति समर्पित होकर पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे के दिशा निर्देशों व उनके निर्णयों का पालन करते हुए कार्य करने होंगे – प्रताप सरनाईक (शिवसेना प्रवक्ता व विधायक)*

70 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: