ऑनलाइन शिक्षा की धारा से दूर छात्रों को ऑफलाइन शिक्षा देने का उपक्रम

सुनील शर्मा (कल्याण)

कल्याण। कल्याण डोंबिवली और उल्हासनगर महानगर पालिका क्षेत्र के असीलपाड़ा में कई छात्र सुविधाओं की कमी के कारण ऑनलाइन शिक्षा से वंचित हैं। क्षेत्र में रहने वाले सामाजिक कार्यकर्ता सुनील अहिरे पिछले दो महीनों से क्षेत्र को बच्चों को मुफ्त शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।
राज्य सरकार के निर्देशन में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अभी तक स्कूल कॉलेज शुरू नहीं किए गये हैं। इसके बजाय, ऑनलाइन शिक्षा का विकल्प उपलब्ध कराया गया है।
इसी क्रम में कल्याण डोम्बिवली और उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र के असीलपाड़ा में गणराज कॉलोनी में सभी नौकरी पेशा मजदूर और श्रमिक वर्ग के लोग रहते हैं। उनके घर में कमाने वाले के पास एक मोबाइल है। लेकिन अब जब से अनलॉक शुरू हुआ है तब से कुछ हद तक काम शुरू हो गया है, मजदूर नौकरी पेशा लोग अब कमाने के लिए घर से निकलकर काम पर जाने लगे है इसलिए अपने साथ मोबाइल भी लेकर जाते है जिसकी वजह से घर पर पढ़ने वालों बच्चों को विकट परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। मोबाइल नही होने की वजह से पढ़ने वाले छात्र पढ़ाई से बंचित हो रहे है इन्ही समस्याओं को देखते हुए बंचित छात्रों को ऑफलाइन अध्ययन कराने के लिए उपक्रम।
एक पूर्णकालिक सामाजिक कार्यकर्ता सुनील अहिरे और उनका संगठन शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर काम करता है। लॉकडाउन के कारण काम करने के लिए अहीरे मुंबई नहीं जा सकते। इसलिए उनके संगठन ने उन्हें घर से काम करने की सुविधा दी है। जैसा कि अहीरे एक पूर्णकालिक सामाजिक कार्यकर्ता हैं, वह जिस संगठन के लिए काम करते हैं वह संगठन शिक्षा पर भी काम करती है। इसलिए, अहीरे ने कहाकि जिन बच्चों के पास मोबाइल टैब तक नहीं है, वे ऑनलाइन शिक्षा नहीं ले सकते। हम उन बच्चों को ऑफलाइन शिक्षा प्रदान करने का कार्य कर रहे है।
इस अध्ययन कार्य को पिछले डेढ़ महीने से जिस स्थान पर वे रह रहे हैं,वही से आरम्भित किया है उस इलाके के छात्र प्रतिदिन सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक पढ़ते हैं। उनके ऑफ़लाइन स्कूल में, कक्षा I से VIII तक के छात्र शिक्षा ले रहे हैं। बदले में कुछ भी उम्मीद किए बिना लगभग 35 छात्रों को अध्ययन करा रहे है अहीरे इसे सामाजिक कर्तव्य की भावना के साथ कर रहे हैं।

96 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: