ठाणे शहर सपा के पूर्व उपाध्यक्ष उपेंद्रनाथ सिंह की अन्य पार्टी में शामिल होने की चर्चा।

वरिष्ठ संवाददाता

ठाणे। समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता उपेन्द्र नाथ सिंह पिछले तीस वर्षों से ठाणे शहर में रहते हुए समाजवादी पार्टी के जमीनी स्तर से जुड़े हुए वरिष्ठ कार्यकर्ता है।
अनेकों बार समाजवादी पार्टी की तरफ से उपेंद्र नाथ सिंह को ठाणे शहर की जिम्मेदारियां मिली।उपेंद्रनाथ सिंह ठाणे शहर उपाध्यक्ष के रूप में मिली हुई समाजवादी पार्टी की तरफ जिम्मेदारी को बखूबी से निभाई है।
समाजवादी पार्टी के नेता उपेंद्रनाथ सिंह अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर कई मुद्दों को लेकर स्थानीय स्तर पर आवाजे उठाई है। और नागरिकों की समस्याओं को सुलझाने का कार्य किया है।
उपेंद्रनाथ सिंह ने बताया कि हम उत्तरप्रदेश के बलिया जिले के मा.पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर सिहं व समाजवादी पार्टी के संस्थापक व जुझारू नेता राममनोहर लोहिया के विचारधाराओं से प्रेरित होकर 18 वर्ष की उम्र से ही समाजवादी पार्टी में शामिल हुए है। और पिछले तीस वर्षों से महाराष्ट्र के ठाणे शहर में समाजवादी पार्टी का सिपाही बनकर कार्य कर रहा हूँ।

लेकिन अब ठाणे शहर में समाजवादी पार्टी का अस्तित्व खतरे में दिख रहा है। क्योंकि अब राममनोहर लोहिया जी के विचार धाराओं का पालन पार्टी नही कर रही है।
पार्टी जमीनी स्तर से जुड़े कार्यकर्ताओं को हांसिये छोड़कर दिशाविहीन हो चुकी है।
समाजवादी पार्टी की गतिविधियों से इस तरह से नाराज उपेंद्र सिंह लगता हैकि आने वाले समय में अपने सभी कार्यकर्ताओं के साथ किसी अन्य पार्टियों की तरफ अपना रुख कर सकते है। यदि इस तरह के कदम सिंह ने उठाया तो समाजवादी पार्टी अपने वर्षो पुराने वरिष्ठ कार्यकता को को खो देगी।इससे ठाणे शहर में समाजवादी पार्टी को गहरा झटका लगने की उम्मीद दिखाई दे रही है।
वही मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहाकि समाजवादी पार्टी के लिए अपना पूरा जीवन सच्चे सिपाही की तरह समर्पित कर दिया परन्तु जो स्थान मिलना चाहिए वह स्थान समाजवादी पार्टी महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष अबू हाशमी द्वारा आज तक हमें नही मिला हालांकि कई बार पद पार्टी की तरफ हमे दिए गए हमने कार्य भी किया लेकिन कुछ ऐसे चेहरे समाजवादी पार्टी में आये जिन्होंने पूरी तरह से समाजवादी पार्टी की जड़े ठाणे शहर से समाप्त करके पार्टी से चले भी गए ऐसे चेहरों पर पार्टी विश्वास करती है जो सदैव पार्टी के लिए काम करते आ रहे है उन्हें पार्टी हांसिये पर छोड़ दी है।
इसलिए आने वाले समय मे यदि समाजवादी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने जमीनी स्तर से जुड़े कार्यकर्ताओं को एकजुट रखने का कार्य नही किये तो पूरी तरह से समाजवादी पार्टी के अस्तित्व का खात्मा ठाणे शहर में निश्चित है।

109 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: