अधिकारियों को है भीषण दुर्घटनाओं का इंतजार

समर प्रताप सिंह
ठाणे। ठाणे के पूर्व द्रुतगामी महामार्ग पर कोपरी पुल और हाइवे के चारो लेन के विस्तारीकरण के पहल चरण का काम इस महीने के अंत में ही पूरा किया जाना था। जबकि लॉकडाऊन में कुछ समय चला गया। पहले चरण का २१ दिन समाप्त होने के बाद काम शुरू किया गया है। इसके साथ ही कोपरी वलण (मोड़) मार्ग की स्थिति भी चिंताजनक है। इन मामलों को ठाणे कांग्रेस ओबीसी सेल के ठाणे शहर जिला अध्यक्ष राहुल पिंगले ने ठाणे जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर और ठाणे मनपा आयुक्त डॉ. विपीन शर्मा को लिखित निवेदन दिया है। साथ ही आरोप लगाए गए हैं कि विभागीय अधिकारी काम के प्रति लापरवाही बरत कर भीषण दुर्घटनाओं का इंतजार कर रहे हैं।
स्थानीय नागरिकों को आशा थी कि काम जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। लेकिन वैसा नहीं हो पा रहा है। विस्तारीकरण का काम धीमी गति से किया जा रहा है। इस कारण नागरिकों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पहले तो वाहनों की संख्या कम थी। लेकिन लॉकडाऊन हटाए जाने के कारण वाहनों की आवाजाही भी तेज हो गई है।
उपरोक्त जानकारी देते हुए पिंगले ने कहा है कि कोपरी सर्विस रोड के दोनों तरफ किए जाने वाले काम पूरी तरह से बंद पडे हैं। चिखलवाडी में स्थित ज्ञान साधना कॉलेज परिसर में नाला जोडऩेवाला भूगत वाहिनी बंद करने का काम भी नहीं हो पाया है। जबकि सर्विस रोड पर काम जारी है। लेकिन पुल से लगे गटर अब भी खुले हैं। जिस कारण इस स्थान पर जंगली पेड़-पौधे उग आए हैं।
वहीं कोपरी वलण मार्ग पर बेरीकेड और दिशा सूचक भी नहीं लगे हैं। यहां वाहन दुर्घटना की प्रबल संभावना बनी रहती है। सुरक्षारक्षक तैनात नहीं किए गए हैं।
ऐसी स्थिति में हादसे की सौ प्रतिशत संभावना है। यहां फाईबर के बेरीकेड्स इधर-उधर बिखरे पड़े हैं। जो रास्ते के बीच पड़ा है। जिस कारण यहां यातायात जाम की समस्या बनी रहती है। इसको लेकर जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर, ठाणे मनपा आयुक्त डॉ. विपीन शर्मा, ठाणे पुलिस आयुक्त विवेक फणसालकर और एमएमआरडीए से अधिकारियों से पिंगले ने आग्रह किया है कि इन सरकारी विभागों में समन्वय बिठाकर अधूरे काम को जल्द पूरा किया जाए।

119 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: