दशहरे पर्व पर कोविड अस्पताल के कोरोना योद्धाओं ने की वेंटिलेटर सहित अन्य स्वास्थ्य उपकरणों की पूजा

वरिष्ठ संवाददाता

भाईंदर। आश्विन शुक्ल पक्ष दशमी को शस्त्र पूजन का विधान है। नवरात्रि में ९ दिनों की शक्ति उपासना के बाद १० वें दिन जीवन के हर क्षेत्र में विजय की कामना करते हुए विभिन्न शस्त्रों का पूजा की जाती है। इस वर्ष विजया दशमी के पर्व पर रविवार २५ अक्टूबर को कोविड अस्पतालों में कोरोना योद्धा के रूप में कार्य करने वाले डॉक्टर व परिचारिकाओं ने वेंटिलेटर मशीन सहित अन्य स्वास्थ्य उपकरणों की पूजा कर विजया दशमी का त्योहार मनाया व कोरोना की लड़ाई में अपने समर्पण भाव को व्यक्त किया।

दशहरा पर्व पर हथियारों के पूजन का विशेष महत्व है। सदियों से इस दिन हथियारधारी अपने-अपने हथियारों व अस्त्र शस्त्रों का पूजन करते है। रविवार को भायंदर पश्चिम पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत जाधव ने अन्य पुलिस कर्मियों के साथ पुलिस स्टेशन के शस्त्रों की विधिवत पूजा की। उसी प्रकार से भायंदर पूर्व के स्व.प्रमोद महाजन कोविड केयर सेंटर में डॉ.गौतम टाकलगावकर, डॉ. माधुरी कोटक के साथ वहां कार्यरत अन्य डॉक्टर व परिचारिकाओं ने स्वास्थ्य उपकरणों की पूजा करके विजया दशमी का त्योहार मनाया। वहीं दशहरा पर्व पर मीरा भायंदर महानगरपालिका परिवहन सेवा के कर्मचारियों ने भी एमबीएमटी बस की पूजा अर्चना की।

52 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: