कोविड कॉल की मार,नवरात्रि उत्सव की तैयारी में जुटे मूर्तिकार

उदयभान पांडेय।

ठाणे।कोरोना वायरस के बीच जिस उत्साह के साथ गणेशोत्सव मनाया गया था उसी तर्ज पर नवरात्रि उत्सव मनाने की तैयारियां शुरू हो गयी है। मूर्तिकार देवी की मूर्तियों को अंतिम रूप देने में जुटे हुए है। सार्वजनिक तौर पर बड़ी मूर्तियों को स्थापित करने के बजाय इस वर्ष देवी की छोटी मूर्तियों को स्थापित करने का निर्णय सार्वजनिक मंडलों द्वारा लिया जा रहा है।
गणेशोत्सव के 15 दिन बाद नवरात्रि उत्सव का त्यौहार मनाया जाता रहा है पर इस वर्ष मलमास की वजह से एक महीने आगे बढ़ गया है।
सार्वजनिक तौर पर 4 फुट से लेकर 6 फुट ऊंची मूर्तियों की स्थापना की जाती है। कोविड 19 की वजह से गणेशोत्सव के दौरान प्रशासन द्वारा 4 फुट ऊंची मूर्ति स्थापित करने निर्देश जारी किया गया था। 17 अक्टूबर से नवरात्रि का त्यौहार शुरू होने वाला है।देवी की मूर्ति की ऊँचाई को लेकर अभी तक प्रशासन की तरफ से किसी तरह का दिशा निर्देश जारी नही हुआ है बावजूद सार्वजनिक मंडलों द्वारा 6 फुट की जगह 4 फुट ऊंची देवी की प्रतिमा स्थापित करने का निर्णय लिया जा रहा है। देवी भक्तों की मांग के मद्देनजर कारखानों में बड़ी मूर्तियों के बजाय छोटी मूर्तियों का निर्माण किया जा रहा है। मूर्तिकार प्रवीण पातकर का कहना है कि प्रतिवर्ष कारखाने में 100 से 125 मूर्तियों का निर्माण किया जाता रहा है। इसमें से 15 से 20 मूर्तियों की ऊंचाई 6 फुट होती थी। इस वर्ष कोरोना की वजह से 4 फुट ऊंची मूर्तियों की मांग की जा रही है। अन्य ब्यवसाय की तरह से मूर्ति ब्यवसाय पर भी कोरोना का असर पड़ा है।
ठाणे पूर्व श्री काशी आई सेवा मंडल के अध्यक्ष जगन्नाथ केदार का कहना है कि वर्षो से चली आ रही परंपरा के मद्देनजर इस वर्ष सादगी के साथ नवरात्रि का उत्सव मनाया जायेगा। मूर्ति की ऊंचाई को लेकर अभी तक किसी तरह का दिशा निर्देश जारी नही हुआ है इसके बावजूद मंडल के सभी पदाधिकारियों ने सुरक्षा के लिहाज से 4 फुट ऊंची मूर्ति स्थापित करने का निर्णय लिया है।

48 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: