कैट अपने ई कॉमर्स पोर्टल “भारतईमार्किट” के लोगो को 30 अक्टूबर को करेगा लांच।

उदयभान पाण्डेय

चीन की बनी कोई वस्तु भारत ई मार्किट पर नहीं बेचीं जायेगी।

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने अपने महत्वाकांक्षी ई कॉमर्स पोर्टल ‘भारतईमार्केट’ का लोगो ( प्रतीक चिन्ह) 30 अक्टूबर को लांच करने का एलान किया है। कैट का भारत ईकॉमर्स पोर्टल विशुद्ध रूप से भारतीय होगा जिसमें विदेश से प्राप्त किसी भी धन का निवेश नहीं होगा ! पोर्टल पर प्राप्त होने वाला डाटा देश में ही स्थापित सर्वर पर रखा जाएगा और एक भी डाटा देश की सीमा से बाहर नहीं जाएगा !

कैट ने यह भी घोषणा की की किसी भी प्रकार की चीनी वस्तु कैट के पोर्टल भारतईमार्किट पर नहीं बेचीं जा सकेंगी ! देश में ई कॉमर्स के तेज़ी से बढ़ते प्रभाव को देखते हुए और देश के मायूस व्यापारियों के उत्थान के लिए कैट ने खुद के ई कॉमर्स पोर्टल को लांच करने की घोषणा कुछ महीने पूर्व ही कर दी थी और उसके बाद कैट लगातार भारतईमार्किट प्रोजेक्ट पर काम करता आ रहा है जिसमें अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी, डिलीवरी सिस्टम, सामन का क्वालिटी कण्ट्रोल, डिजिटल भुगतान आदि विशिष्ट तकनीकों का पूरा इस्तेमाल किया गया है । भारतईमार्किट पोर्टल सार्वजनिक रूप से दिसंबर के महीने के प्रथम सप्ताह में लांच किया जाएगा !

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने आज दशहरे के दिन इसकी घोषणा करते हुए बताया की कैट के ई कॉमर्स पोर्टल भारतईमार्किट का लोगो (प्रतीक चिन्ह) देश की एक बड़ी एडवरटाइजिंग एवं ब्रांडिंग कम्पनी ने कैट द्वारा किये गए एक देशव्यापी सर्वे जिसमें व्यापारियों एवं उपभोक्ताओं को शामिल किया गया था, से प्राप्त सुझावों के आधार पर बनाया है ! पोर्टल का यह प्रतीक चिन्ह ही भारतईमार्किट” की खूबियों को स्वत : ही बयान करता है ! निश्चित रूप से हमारे भारतईमार्किट का लोगो देश भर में बेहद पसंद किया जाएगा और ई कॉमर्स की दुनिया में अपना स्थान स्वयं बनाएगा !
श्री भरतिया एवं श्री खंडेलवाल ने यह भी बताया की भारत ईमार्किट पोर्टल भारत के व्यापारियों का ,व्यापारियों के द्वारा तथा व्यापारियों और उपभोक्ताओं के लिए , वाले मूल सिद्धांत पर आधारित होगा ! भारतईमार्किट पोर्टल में निर्माता से लेकर आखिरी उपभोक्ता तक की वर्तमान व्यवसाय पद्धति जो अभी ऑफलाइन में चल रही है, का उसी प्रकार से एलेक्ट्रॉनिकीकरण किया जाएगा ! इससे जहाँ एक तरफ ऑनलाइन पर वर्तमान सप्लाई चेन को बल मिलेगा तो वही दूसरी ओर देश भर के व्यापारियों की निजी दुकानों के व्यापार में बड़ी वृद्धि होगी ! इस पोर्टल के जरिये अब भारत के व्यापारियों की दुकाने 24 घंटे खुली रहेंगी !
श्री भरतिया एवं श्री खंडेलवाल ने यह भी बताया की भारतईमार्किट की यह भी विशेषता होगी की यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल और आत्मनिर्भर भारत के आव्हान को ई कॉमर्स व्यापार के माध्यम से जमीन पर संभव करेगा और इस पोर्टल में डिजिटल पेमेंट पर ज्यादा जोर होगा !कैट ने साफ किया है कि ये पोर्टल ग्लोबल दिग्गजों की तरह खुद के मुनाफ़े के लिए काम नही करेगी बल्कि इनका मकसद देसी रिटेल व्यापार की मौजूदा स्थिति को सुधारने और इनके भविष्य को बेहतर बनाने का है।
कैट के उपाध्यक्ष सुरेश ठक्कर ने बताया कि यह देश के व्यापारियों का शीर्ष संगठन है जिसके साथ देश भर के 40 हजार से ज्यादा व्यापारिक संगठन जुड़े हुए हैं जिनके जरिये कैट देश के 7 करोड़ व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करता है ! यह पूरे विश्व में सबसे बड़ी सप्लाई चेन है और भारतईमार्किट पर अधिक से अधिक व्यापारियों की ई -दुकाने बनवाने के काम में देश भर के व्यापारिक संगठन पूरी ताकत से जुटेंगे !

109 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: