संपत्ति के लिए भाई ने अपने भाई को उतारा मौत के घाट-शव की तलाश कर रही पुलिस

हत्या कर चोरी किया हुआ 4 किलो सोना बरामद के साथ 2 हत्यारे गिरफ्तार।
ठाणे। भाई नेे अपने ही भाई की गोली मारकर हत्या करने,घर से चार किलो सोने के आभूषणों की चोरी करने तथा शव को वाशी की खाड़ी में फेंक देने के आरोप में पुलिस ने दो लोगो को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उनके पास से देशी कट्टा,कारतूस तथा सोने के आभूषणों को बरामद कर लिया है।
घोडबंदर रोड स्थित वाघविल गांव निवासी राकेश माणिक पाटील 20 सितंबर को स्कूटी लेकर घर से निकला लेकिन अभी तक वापस नही आया है।

यह शिकायत कासर वडवली पुलिस थाने में दर्ज कराई गई थी। इस शिकायत की जांच चल ही रही थी कि राकेश के पिता माणिक पाटील ने घर की तिजोरी से 3 किलों 700 ग्राम सोने के आभूषण की भी चोरी होने की शिकायत की। पुलिस और परिजन यह मानकर चल रहे थे कि राकेश आभूषणों की चोरी कर फरार हो गया है। जांच पड़ताल के दौरान यह पता चला कि जिस स्कूटी को लेकर राकेश घर से निकला था उसे माणिक पाटील का ड्राइवर गौरव सिंह चला रहा है। मानपाढा आजाद नगर निवासी गौरव सिंह ने पुलिस पूछताछ में बताया कि राकेश पाटील तथा उसके भाई सचिन पाटील के साथ बैठकर हम लोग शराब पी रहे थे।इसी दौरान सचिन का राकेश के साथ संपत्ति बटवारे को लेकर विबाद हो गया। सचिन ने आक्रोश में आकर राकेश के सर में गोली मार दी। राकेश के शव को कार में डालकर वाशी की खाड़ी में फेंक दिया गया है। गौरव ने यह भी बताया घर से जो आभूषण चोरी हुए है उसे सचिन ने ही चुराया है। सचिन की खोज में जुटी पुलिस को यह सूचना मिली कि सचिन नवी मुंबई के उलवे परिसर में आने वाला है। जाल बिछाकर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। सचिन ने हत्या तथा चोरी का गुनाह कबूल कर लिया है। उसके पास से चोरी के आभूषण, हत्या में उपयोग किया गया देशी कट्टा तथा एक कारतूस बरामद किया गया है। वाशी की खाड़ी में शव की तलाश जारी है।

पुलिस के मुताबिक माणिक पाटील ने दो शादियां की है।पहली पत्नी से राकेश तथा दूसरी पत्नी से सचिन पैदा हुआ है।

आये दिन संपत्ति को लेकर दोनों के बीच वादविवाद होते रहे है,जिसके लिए एक भाई को एक भाई ने मौत के घाट लगाकर अकेले संपत्ति का मालिकाना हक चाहता था।परन्तु ख्वाहिश अधूरी रह गई जाना पड़ा जेल।

98 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: