दशकों से उपेक्षित दिवा-मुंब्रा रोड को चाहिए बदहाली से मुक्ति

समर प्रताप सिंह
दिवा। दिवा उपनगर को ठाणे शहर से जोडऩे का सबसे करीबी मार्ग दिवा से मुंब्रा तक जानेवाला टाटा पॉवर रोड है। लेकिन कच्ची सडक़ होने के कारण इस मार्ग पर वाहनों की सामान्य आवजाही संभव नहीं है। जिस कारण दिवा से ठाणे शहर जहां केवळ ३० मिनट में ही पहुंचा जा सकता है टाटा पॉवर रोड की स्थिति खराब होने के कारण लोगों को १५ किमी की दूरी तय करनी पड़ती है। दिवा के वरिष्ठ शिवसेना नगरसेवक शैलेष पाटील ने इस बाबत ठाणे मनपा आयुक्त डॉ. विपीन शर्मा को लिखित निवेदन दिया है। मांग की है कि दिवा से मुंब्रा तक जानेवाले टाटा पॉवर रोड को बनाने हेतु जल्द निधि उपलब्ध कराई जाए। ताकि स्थानीय नागरिकों की समस्याओं का समाधान संभव हो सके।
बताया गया है कि दिवा दमकल केंद्र के बगल से ही दिवा जाने के लिए टाटा पॉवर रोड अस्तित्व में है। इसी मार्ग पर मुंब्रा का चूहा ब्रिज भी पड़ता है। नगरसेवक शैलेष पाटील का कहना है कि इस समय कोरोना के कारण दिवा के लोगों को कहीं भी जाने के लिए भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। $कहा गया है कि यदि दिवा के लोग ठाणे शहर जाना चाहे तो उन्हें खर्डी गांव और शिलफाटा होते हुए कौसा-मुंब्रा होकर जाना पड़ता है। जिसकी दूरी १५ किमी हो जाती है। पाटील का कहना है कि यदि दिवा से मुंब्रा टाटा पॉवर रोड बना दिया गया तो ३० मिनट में ही लोग ठाणे शहर आसानी से पहुंच सकते हैं।
मनपा आयुक्त डॉ. शर्मा से मांग की गई है कि वे निजी स्तर पर इस रोड को लेकर रूचि लें। साथ ही संबंधित विभाग के अधिकारियों को आदेश दें कि दिवा-मुंब्रा टाटा पॉवर रोड बनाने हेतु प्रशासनिक पहल की जाए। इसके साथ ही इस रोड के निर्माण के लिए निधि भी उपलब्ध कराई जाए।
दिए गए निवेदन पत्र में कहा गया है किप मुंब्रा दमकल केंद्र के बगल से दिवा जानेवाला टाटा पॉवर रोड जिस पर चूहा ब्रिज स्थित है, उसकी बदहाली को मनपा प्रशासन गंभीरता से लें ताकि दिवा के लोगों को आवागमन की समस्या से स्थायी मुक्ति मिल सके। कच्ची सडक होने के कारण रास्ते का बुरा हाल है। सडकों पर पानी जमा रहते हैं। पूरा रोड कीचड़मय है। शैलेष पाटील का कहना है कि दिवा-मुंब्रा टाटा पॉवर रोड की जल्द दुरुस्ती करवाई जाए। ताकि लोगों को ऑवागमन की समस्या से मुक्ति मिल सके।

103 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: