भिवंडी कोरोना पर विजय 31कोविड सेंटर किये गए लॉक

वरिष्ठ संवाददाता

भिवंडी।कोरोना कॉल में हॉटस्पॉट बनी भिवंडी से कोरोना का सफाया होने लगा है।राज्य सरकार के निर्देश व मनपा प्रशासन की सक्रियता से अब कोरोना मुक्त होने के कारण अब यहां कोरोना सेंटरों को मरीज नही मिल रहे है।जिसके कारण मरीजो के आभव में यहां के 31 कोरोना सेंटरों में ताला लग गया है।अब यहां मात्र दो कोरोना केंद्र अभी जनता की सेवा के लिए चालू रखा गया है।
मालूम हो कि कोरोना काल के दौरान भिवंडी के शहरीय व ग्रामीण इलाके में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मनपा के पांच कोविड सेंटर कम पड़ने लगे थे।जिसके मद्देनजर मनपा आयुक्त डाॅ पंकज आशिया ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के 28 निजी अस्पतालों में कोविड रोगियों के उपचार के लिए इसकी अनुमति दी थी।हालांकि सितंबर में रोगियों की संख्या तेजी से गिरावट आई थी।जिसके के कारण उक्त कोविड अस्पतालों को मरीज नही मिल रहे थे।इसकी वजह से 28 निजी अस्पतालों सहित कुल 33 कोविड सेंटरों में से, 31 कोविड अस्पताल बंद कर दिया गया है।जिसके अब मात्र इंदिरा गांधी मेमोरियल उपजिला अस्पताल खुदाबख्स हॉल सहित मात्र दो अस्पतालों में कोरोना का इलाज चालू हैं।ऐसी जानकारी मनपा आयुक्त डॉ पंकज आशिया ने दी है।
मालूम हो कि भिवंडी एशिया की सबसे बड़ी पावरलूम नगरी है।जहां पर पश्चिम बंगाल, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश,झारखंड, बिहार, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक के लाखों मजदूर यहां रहते व लूम कारखानों में काम करते हैं।जिसके कारण कोरोना महामारी में भिवंडी हॉटस्पॉट बन गया था।जिसके बाद कोरोना पर अंकुश लगाने व मरीजों के बेहतर इलाज के लिए सरकार के निर्देशों पर 33 कोविड सेंटर बनाकर उसमें कुल 3642 बेड उपलब्ध कराया गया था।बता दे कि भिवंडी मनपा क्षेत्र में 5847 कोविड रोगी मिले हैं और अब तक 5276 रोगी ठीक हो चुके हैं।जबकि 330 रोगियों की मृत्यु हो गई है। प्रति दिन रोगियों की घटती संख्या के कारण 31 अस्पताल बंद होने के कारण वर्तमान में केवल दो अस्पताल ही चल रहे हैं।जहां पर 239 मरीजों का इलाज चल रहा है।भिवंडी जल्द ही कोरोना से मुक्त हो जाएगा। ऐसा विश्वास मनपा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ खरात ने व्यक्त किया है।

101 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: