मुंबई के 38 ट्रांजिट कैंप के पुनर्विकास। हजारों पुरानी इमारतों के रहिवासियो को प्राथमिकता।

दिनेश शुक्ला।

मुंबई। म्हाडा रिपेयर बोर्ड अंतर्गत मुंबई की 38 म्हाडा ट्रांजिट कैंप के पुनर्विकास प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। जिसके चलते हजारों घरों का निर्माण का मार्ग खुल गया है। घरों के निर्माण के बाद 30 प्रतिसत मकानों में पुरानी जर्जर हो चुई मकानों के रहिवसियो को पहली प्रार्थमिकता दी जाएगी। इन ट्रांजिट कैंप के निर्माण हेतु जल्द ही पी एम सी नियुक्त की जाएगी। म्हाडा प्राधिकरण की बैठक में निर्णय लिया गया है। म्हाडा के मुंबई मै 58 ट्रांजिट कैंप है जिसमें 20 कैंप का पुनर्विकास हो चुका है।

गौरतलब है कि महाविकास आघाड़ी सरकार ने मुंबई के 58 म्हाडा ट्रांजिट कैंप के पुनर्विकास का फैसला लिया है। सैकड़ों वर्ष की पुरानी इमारतों का मामला सरकार ने गंभीरता से लेते हुए पहले 38 ट्रांजिट कैंप का निर्माण करने जा रही है म्हाडा के पास पर्याय ववस्था के तौर पर ट्रांजिट के घर नाममात्र रह गए है, यदि कोई पुरानी इमारतों में घटना घटती है तो उन्हें शिफ्ट करने के लिए भारी मुश्किल हो सकती है। थे।

अब जिन इमारतों को म्हाडा डेवलप करने जा रही है उन इमारतों में दुकानें, और विक्री के मकानों को छोड़कर मिलने वाले ट्रांजिट कैंप में 30 प्रतिसत अधिक मांग म्हाडा रिपेयर बोर्ड ने रखी है। ताकि तत्काल कोई घटना घटी तो उन रहिवासियो को स्थानांतरण किया जा सके। म्हाडा रीपरे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद घोसालकर की मांग के बाद ही म्हाडा प्राधिकरण ने यह निर्णय लिया है।

91 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: