कैट ने ई कॉमर्स पोर्टल भारतईमार्किट के लोगो को लांच कर ई कामर्स व्यापार में किया धमाका

उदयभान पाण्डेय।

देश। कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने अपने महत्वाकांक्षी ई कॉमर्स पोर्टल ‘भारतईमार्केट’ का लोगो ( प्रतीक चिन्ह) आज नई दिल्ली में लांच करते हुए देश के ई कामर्स व्यापार में भारत के व्यापारियों और ई कामर्स व्यापार को विदेशी ई कामर्स कंपनियों के चंगुल से आज़ाद कराने के अपने मजबूत इरादों की घोषणा कर दी है ! ” मेरे लिए, मेरे देश के लिए” को भारतईमार्किटकी टैग लाइन को “लोगो” के साथ जोड़ते हुए कैट ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल और आत्मनिर्भर भारत मिशन को देश के व्यापारियों और ई कामर्स व्यापार के लिए अपना घोषणा वक्तव्य जारी किया है ! कैट ने घोषणा की है की भारतईमार्किट पोर्टल पर चीन में बना कोई भी सामान नहीं बेचा जायेगा ! यह पोर्टल इस वर्ष दिसंबर तक शुरू कर दिया जाएगा !
भारतईमार्किट के ‘लोगो’ मे खूबसूरत चटकीले रंगों का इस्तेमाल किया गया है जिससे देश के युवा खुद को जोड़ सके और इसका बैकड्रॉप एक खादी का बना झोला अथवा बैग है जो भारत के आम आदमी के सदियों से चले आ रहे बाजार खरीददारी के तरीके का प्रतिबिम्ब है और वस्तु निर्माण के क्षेत्र में भारत के अग्रणी होने का एहसास कराता है ! भारतईमार्किट का ” लोगो” सही मायनों में भारतीयता का प्रतीक है ! यह लोगो ब्रांडिंग एवं कम्युनिकेशन क्षेत्र में देश की शीर्ष बड़ी कंपनियों में इस एक आर के स्वामी बीबीडीओ ने तैय्यार किया है ।
इस मौक़े पर वीडियो कॉन्फ़्रेन्स द्वारा भाग लेते हुए केंद्रीय वाणिज्य राज्य मंत्री श्री सोम प्रकाश ने भारतईमार्केट को लॉंच करने के कैट के निर्णय की सराहना करते हुए कहा की निश्चित रूप से यह कदम प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल तथा आत्मनिर्भर भारत को अमली जामा पहनाने के लिए मील का पत्थर बनेगा । उन्होंने साफ़ शब्दों में कहा की सरकार ई क़ामर्स व्यापार को सबके लिए समानता से उपलब्ध कराने के संकल्प को ज़ाहिर करते हुए कहा की किसी ई क़ामर्स कम्पनी की मनमानी को सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी और यदि कोई भी सरकार की नीतियों का उल्लंघन करेगा तो उसे सख़्त कारवाई का सामना करने के लिए तैय्यार रहना चाहिए । उन्होंने कैट द्वारा समय समय पर डिजिटल भुगतान और डिजिटल तकनीक से व्यापारियों को जोड़ने के प्रयासों की सराहना की और कहा की अब व्यापार करने का तौर तरीक़ा बदल रहा है और व्यापारियों को भी अब अपने व्यापार को तकनीक से जोड़ना ज़रूरी है ।
प्रख्यात अंतरराष्ट्रीय वास्तु विशेषज्ञ डॉ. खुशदीप बंसल के साथ देश के ट्रांसपोर्ट सेक्टर के सबसे बड़े राष्ट्रीय संगठन आल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन के चैयरमैन श्री प्रदीप सिंघल, आल इंडिया एफएमसीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री धैर्यशील पाटिल, इंडिया सेलुलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री पंकज मोहिंद्रू ,आल इंडिया मोबाइल रिटेलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री अरविंदर खुराना तथा भारतीय किसान संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नरेश सिरोही ने भारतईमार्किट के “लोगो” को संयुक्त रूप रूप से लांच किया ! इस मौक़े पर मास्टरकार्ड, एमवे, टैलीं, एचडीएफसी बैंक, श्रीराम ग्रूप, पेमेंट गेटवे कम्पनी रेज़र पे सहित अन्य कॉर्पोरेट कंपनियों के शीर्ष अधिकारी भी मौजूद थे ! इस मौके पर दिल्ली सहित देश के विभिन्न राज्यों के प्रमुख व्यापारी नेता भी शामिल हुए वहीँ दूसरी ओर देश के सभी राज्यों के शीर्ष व्यापारी नेता भी बड़ी संख्या में वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से लांच समारोह में शामिल हुए !
कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की कोरोना लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन व्यापार में बड़ी वृद्धि हुई है। कोविड से पहले भारत में ई कामर्स व्यवसाय लगभग 7 % था वह अब वर्तमान में लगभग 24% हो गया है। शहरी क्षेत्रों में 42% इंटरनेट उपयोगकर्ता अब ई-कॉमर्स के माध्यम से अपनी खरीदारी कर रहे हैं। हालांकि, भारत में व्यापारियों की दुकाने भारतीय अर्थव्यवस्था में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती रहेंगी जिन्हे कोई मिटा नहीं नहीं सकता किन्तु ई कामर्स व्यापार का नया तरीका है जिसको देश के व्यापारियों द्वारा एक अतिरिक्त व्यापार के रूप में अपनाया जाना भी आवश्यक बन गया है !
श्री भरतिया एवं श्री खंडेलवाल ने कहा कि भारत में स्मार्टफोन और इंटरनेट के तेजी से बढ़ते इस्तेमाल तथा केंद्र सरकार द्वारा बड़ी संख्यां में पंचायतों को डिजिटल तकनीक से साथ जोड़े जाने के चलते देश के ई-कॉमर्स बाजार की वर्ष 2026 तक 200 बिलियन डॉलर होने की उम्मीद है जो वर्तमान में लगभग 45 बिलियन डॉलर है ! देश में 5G तकनीक के जल्द शुरू होने के बाद ई कामर्स व्यापार तेजी से आगे बढ़ेगा और बड़ी संख्यां में लोग डिजिटल कॉमर्स को अपनाएंगे। टेक्नॉलॉजी ने डिजिटल पेमेंट, हाइपर-लोकल लॉजिस्टिक्स, एनालिटिक्स से संचालित कस्टमर एंगेजमेंट और डिजिटल विज्ञापनों जैसे नए विचारों को जन्म दिया है जिससे भी भारत में ई-कॉमर्स व्यापार बढ़ेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए और देश के व्यापारियों को आगे बढ़ाने के इरादे से “भारतईमार्केट” पोर्टल को शुरू करने का निर्णय कैट ने लिया है !
अखिल भारतीय खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं कैट के महानगर इकाई अध्यक्ष श्री शंकर ठक्कर ने केंद्र सरकार से आग्रह करते हुए कहा की भारत में ई कामर्स व्यापार को व्यवस्थित तरीके से चलाने के लिए ई कामर्स पालिसी को जल्द से जल्द घोषित किया जाए जिसमें एक मजबूत रेगुलेटरी अथॉरिटी के गठन का प्रावधान हो और इसी बीच एफडीआई पालिसी के प्रेस नोट 2 की विसंगतियों और अस्पष्ट प्रावधानों को दूर करते हुए सरकार एक नया प्रेस नोट जारी करे जिससे विदेशी ई कामर्स कंपनियों की मनमानी और पालिसी के नियमों के उल्लंघन को समाप्त किया जा सके !

118 views
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: